हैस्ब्रो इलेक्ट्रॉनिक युद्धपोत

हैस्ब्रो हैंडहेल्ड गेम कोरोना के खिलाफ लड़ने में महिलाओं का इम्युन​ सिस्टम ह

Research on Coronavirus कोरोना के खिलाफ लड़ने में महिलाओं का इम्युन​ सिस्टम है पुरुषों से काफी बेहतर

हाल ही में वैज्ञानिकों की टीम ने कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ने में महिलाओं और पुरषों की इम्युनिटी पर अध्ययन किया है। वैज्ञानिकों द्वारा देखा गया है कि पुरुषों का इम्युन सिस्टम ​महिलाओं की तुलना में कमजोर है। विशेष रूप से वृद्ध पुरुष, वृद्ध महिलाओं की तुलना में जल्दी कोरोना संक्रमित हो रहे हैं। इसी तरह बढ़ी उम्र की महिलाओं की तुलना में कोरोनोवायरस संक्रमण से मरने वालों में बड़ी उम्र के पुरुषों की संभावना अधिक है। हालांकि, लेकिन इसके पीछे का सही कारण अभी तक वैज्ञानिकों द्वारा पता नहीं लगाया जा सका है। Also Read - 2024 से पहले नहीं मिल सकेगी ‘सभी को’ कोविड वैक्सीनहैस्ब्रो हैंडहेल्ड गेम, सीरम इंडिया प्रमुख ने दिया बयान

अध्ययन के प्रमुख लेखक अकीको इवासाकीहैस्ब्रो हैंडहेल्ड गेम, येल विश्वविद्यालय में एक प्रोफेसर के अनुसारहैस्ब्रो हैंडहेल्ड गेम, नए अध्ययन में उन्होंने पाया है कि “पुरुष और महिलाएं वास्तव में कोविड-19 के लिए विभिन्न प्रकार की प्रतिरक्षा प्रतिक्रियाएं विकसित करते हैं”। प्रतिरक्षा विशेषज्ञ के अनुसारहैस्ब्रो हैंडहेल्ड गेम, “इन मतभेदों से पुरुषों में बीमारी की संवेदनशीलता बढ़ सकती है”। अध्ययन मेंहैस्ब्रो हैंडहेल्ड गेम, शोधकर्ताओं ने गैर-संक्रमित व्यक्तिगत प्रतिभागियों के नाक, लार और रक्त के नमूने एकत्र किए और जिन लोगों को बीमारी थी, उनका इलाज संयुक्त राज्य अमेरिका के येल न्यू हेवन अस्पताल में किया गया और फिर उनकी व्यक्तिगत प्रतिरक्षा प्रतिक्रियाओं का विश्लेषण किया गया। Also Read - लॉकडाउन से 78 हजार लोगों की जान बचाना हुआ मुमकिन, इलेक्ट्रॉनिक डार्ट्स 29 लाख कोविड मामलों से बच सका भारत

Covid-19 Outbreak in India Also Read - Covid-19 Live Updates: भारत में कोरोना के मरीजों की संख्या हुई 48,46,हैस्ब्रो हैंडहेल्ड गेम427, अब तक 79,722 लोगों की मौत

शोधकर्ताओं के अनुसार, महिलाएं जिनमें वृद्ध शामिल हैं, में तुलनात्मक रूप से अधिक मजबूत प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया पाई गई, जिसमें टी लिम्फोसाइट्स (एक प्रकार की श्वेत रक्त कोशिकाएं शामिल हैं जो वायरस को पहचानने और मारने की क्षमता रखती हैं)। जबकि पुरुषों में, विशेष रूप से बड़े लोगों में कमजोर प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया पाई गई है। वैज्ञानिकों ने पाया कि पुरुष महिलाओं की तुलना में अधिक साइटोकिन्स का उत्पादन कर रहे थे (एक सूजन प्रोटीन जो संक्रमण के खिलाफ प्राकृतिक प्रतिरक्षा उत्पन्न करने के लिए जिम्मेदार है)। वैज्ञानिकों ने पिछले एक अध्ययन में पाया है कि कोरोनोवायरस रोगियों में साइटोकाइन तूफान के रूप में जाना जाने वाला साइटोकिन्स का अतिप्रयोग ने उन्हें शरीर पर इसके नकारात्मक प्रभाव के कारण मृत्यु के उच्च जोखिम में डाल दिया है।

इमयुनिटी बढ़ाने के तरीके

1. गुनगुना पानी न सिर्फ गले को सेक देता है बल्कि इम्युनिटी भी मजबूत करता है। कोविड-19 इंफेक्शन के समय भी गुनगुना पानी पीने से फायदा होता है। इसके साथ ही रोज़ाना कम से कम 30 मिनट तक योगोभ्यस करें, प्रणायाम यानि ब्रीदिंग एक्सरसाइज़ेस करें, मेडिटेशन के लिए समय निकाले।

2. नियमित रूप से गिलोय का काढ़ा पीकर भी इम्युनिटी को मजबूत किया जा सकता है।

3. दूध के साथ हल्दी मिलाकर पीने से भी प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है। आयुष मंत्रालय ने भी सलाह दी थी कि कोरोना वायरस के माहौल में 150 मिली (एक गिलास) गर्म दूध में आधा चम्मच हल्दी पाउडर मिला पीने से इम्युनिटी को मजबूत किया जा सकता है।

4. फास्ट फूड का सेवन और मिर्च मसालों के सेवन से बचें। घर का बना सादा खाना खाकर इम्युनिटी को बढ़ाया जा सकता है।

Published : August 28, 2020 10:10 am | Updated:August 28, 2020 10:11 am Read Disclaimer Comments - Join the Discussion टीबी के सभी मरीजों को अब कराना होगा कोरोना टेस्ट, स्वास्थ्य मंत्रालय का आदेशटीबी के सभी मरीजों को अब कराना होगा कोरोना टेस्ट, स्वास्थ्य मंत्रालय का आदेश टीबी के सभी मरीजों को अब कराना होगा कोरोना टेस्ट, स्वास्थ्य मंत्रालय का आदेश शोध में कोरोनावायरस का एक और नया लक्षण आया सामने, जानकर रह जाएंगे दंगशोध में कोरोनावायरस का एक और नया लक्षण आया सामने, जानकर रह जाएंगे दंग शोध में कोरोनावायरस का एक और नया लक्षण आया सामने, जानकर रह जाएंगे दंग ,,
 

随机文章

相关站点

友情链接

Powered by हैस्ब्रो इलेक्ट्रॉनिक युद्धपोत @2018 RSS地图 html地图